माफी मांगे साध्वी प्रज्ञा ठाकुर नहीं तो होगा उग्र आंदोलन, गलत बयानबाजी के खिलाफ एकजुट हुए दांगी समाज के लोग

दिनांक 23/10/2021को ब्यावरा जिला राजगढ़ मध्य प्रदेश मे समाज के विधायक स्वर्गीय श्री गोवर्धन जी दांगी के बारे में भाजपा की भोपाल से सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर जी के द्वारा जो बयान दिया गया था उसके विरोध में धरना प्रदर्शन नुक्कड़ सभा एवं रैली का आयोजन किया गया सर्वप्रथम अहिंसा द्वार चौराहे पर सभा के माध्यम से सभी ने अपनी बात रखी और विरोध प्रदर्शन किया एवं साध्वी जी के बयान की घोर निंदा की तत्पश्चात रैली निकालकर पीपल चौराहे पर ब्यावरा में माननीय तहसीलदार महोदय को ज्ञापन दिया गया जिसमे बताया गया , की यदि 3 दिन के अंदर सार्वजनिक रूप से साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने माफी नहीं मांगी तो दांगी समाज सहित सर्वसमाज ब्यावरा राजगढ़ सहित समस्त मध्यप्रदेश में उग्र आंदोलन किया जायेगा इस कार्यक्रम को सफल बनाया.

Continue reading “माफी मांगे साध्वी प्रज्ञा ठाकुर नहीं तो होगा उग्र आंदोलन, गलत बयानबाजी के खिलाफ एकजुट हुए दांगी समाज के लोग”

देश के सर्वाधिक लोकप्रिय कवियों के साथ किया समाज के बेटे राष्ट्रीय कवि राकेश दाँगी ने काव्यपाठ

 

महू। संस्कृतिक मंत्रालय साहित्य अकादमी मध्यप्रदेश शासन द्वारा आयोजित शक्ति उपासना अखिल भारतीय कवि सम्मेलन ऐतिहासिक स्वरूप में संम्पन्न हुआ।साहित्य अकादमी का कोरोना काल के पश्चात प्रथम बड़ा आयोजन था।
अखिल भारतीय कवि सम्मेलन में दाँगी समाज गौरव शाजापुर जिले के ग्राम मोरटा केवड़ी के युवा कवि श्री राकेश दाँगी ने काव्यपाठ कर पूरे जिले को व दाँगी समाज को गौरवान्वित किया हैं। श्री दाँगी संघ,विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता रहे व मंत्री सुश्री उषा ठाकुर के काफी करीबी माने जाते हैं।
साहित्य अकादमी म प्र ने कोविड नियमों का पालन करते हुए इस सत्र के प्रथम भौतिक स्वरूप के आयोजन की घोषणा की थी। 14 अक्टूबर 2021 गुरुवार को सायं 8 बजे बाबा साहब भीमराव अंबेडकर सामाजिक विज्ञान विश्वविद्यालय महू में मध्यप्रदेश सरकार की साहित्य अकादमी (म. प्र. संस्कृति परिषद् ) संस्कृति विभाग भोपाल द्वारा राष्ट्र रक्षा और सामर्थ्यशाली भारत के निर्माण के संकल्प को व्यक्त करने वाला “शक्ति उपासना” नाम से अखिल भारतीय कवि सम्मेलन का आयोजन सम्पन्न हुआ।
कवि सम्मेलन सुश्री उषा ठाकुर (संस्कृति, पर्यटन, एवं अध्यात्म मंत्री म. प्र.शासन) के मुख्य आतिथ्य व डॉ. विकास दवे निदेशक साहित्य अकादमी मध्यप्रदेश शासन की विशेष उपस्थित में सम्पन्न हुआ। इस विराट काव्य कुम्भ में राष्ट्रीय कवि श्री सत्यनारायण सत्तन (इन्दौर) ने सफल संचालन किया। प्रथम कवि के रूप में मुंन्ना बैटरी (मंदसौर) ने हास्य-व्यंग्य के माध्यम से श्रोताओं को खूब गुदगुदाया। दूसरे कवि के रूप में समाज गौरव राष्ट्रीय स्वर कवि राकेश दाँगी ने अपने घनाक्षरी छंदों व ओजस्वी कविताओ के माध्यम से राष्टवाद का संचार किया। श्री दाँगी ने जैसे ही शहीदों को लेकर सुनाया-
माँ बहन को सिसकता छोड़ वो चले गए
बीमार पिता से मुंह मोड़ …..वो चले गए
शहीदों के बलिदान की कहानी कैसे लिखे मेरी कलम
नई नवेली दुल्हनों की चूड़ियां तोड़ वो चले गए।
पूरा पांडाल तालियों की घड़घड़ाहट व भारत माता की जय के नारों से गूंज उठा।प्रियंका राय(बनारस)ने पिता के गीत पर भावुक कर दिया।कमलेश मौर्य मृदु ने श्री राम पर कविता सुनाई,मुकेश मोलवा(इंदौर) ने सरयू के तट कविता सुनाकर श्री राम मंदिर के इतिहास वर्णन किया।संचालन कर रहे देश के सबसे वरिष्ठ कवि सत्यनारायण सत्तन गुरु ने अपने चुटकुले अंदाज में श्रोताओं का खूब मनोरंजन किया।श्री सत्तन को हिंदी काव्य मंचो पर 62 वर्ष हो चुके हैं।
नम्बर आया देश के ओज शिखर श्री हरिओम पंवार का श्री पंवार की कश्मीरी घाटी वाली कविता ने उन्हें खूब प्रसिद्ध किया।श्री पंवार ने नई कविता तालिबान से श्रोताओं को भविष्य के हालातों से अवगत किया।पद्यश्री सुरेन्द्र शर्मा (दिल्ली) ने अपने हास्य-व्यंग्य द्वारा पूरे पांडाल को हास्यमय कर दिया।
कवि सम्मेलन में मंत्री सुश्री उषा ठाकुर व साहित्य अकादमी निदेशक डॉ. विकास दवे ने पूरे समय रहकर सभी कवियों को सहजता से सुना।कोरोना काल के पश्चात देश का सबसे भव्य और दिव्य कवि सम्मेलन सुबह 4 बजे तक चला। कवि सम्मेलन में हज़ारों श्रोताओं की भीड़ सुबह 4 बजे तक जमी रही। विशेष रूप से कवि सम्मेलन समन्वयक श्री रामकृष्ण जी शुक्ला कंचन सिंह चौहान उपस्थित रहे।शक्ति उपासना अखिल भारतीय कवि सम्मेलन लंबे समय तक याद रखा जाएगा।
सम्पूर्ण भारत की अखिल भारतीय क्षत्रिय दाँगी समाज के लिए गौरव का पल हैं, श्री राकेश दाँगी इससे पहले भी 10 वे विश्व हिंदी सम्मेलन भोपाल में सम्मिलित हुए थे। संघठन व साहित्य के माध्यम से निःसंदेह पूरे देश मे दाँगी समाज को श्री राकेश दाँगी ने एक पहचान दी हैं, श्री दाँगी के उत्कृष्ट कार्य हेतु,सम्पूर्ण भारत वर्ष की दाँगी समाज की और से शुभकामना व बधाई प्रेषित करती हैं व आपके उज्ज्वल भविष्य की कामना करती हैं।

नरसिंह भगवान मंदिर पर हुआ दांगी क्षत्रिय समाज का शस्त्र पूजन

गंजबासौदा। विजया दशमी के अवसर पर नरसिंह भगवान मंदिर वेदन खेड़ी पर दांगी समाज का शस्त्र पूजन किया गया। इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष तोरण सिंह दांगी, जसवंत दांगी अंडिया, गजराज सिंह दांगी, पार्षद राजू ठाकुर, ब्रजेश, मनोहर, सुरेन्द्र दांगी, कृष्णा,कमलेश, शिवेंद्र, भूपेंद्र सहित कई समाजजनों ने भगवान नरसिंह और मां दुर्गा की पूजन कर शस्त्रों का पूजन किया और कहा कि मातृभूमि की रक्षा के लिए संस्कार के साथ शस्त्र भी जरूरी है। इसलिए सभी लोगों को शस्त्रों को अपने पास रखना चाहिए और इनकी पूजन करना चाहिए। इस अवसर पर कई समाज जन मौजूद थे।

हुई नियुक्तियां

DWO मध्य प्रदेश के चंपालाल जी दांगी स्टेट कोऑर्डिनेटर बुद्धिजीवी मंच, हरिप्रसाद दांगी को राजनीतिक मोर्चा का स्टेट कोऑर्डिनेटर एवं खानपुरा ग्राम पंचायत के सरपंच कन्हैया लाल दांगी बने राजगढ़ जिले के कोऑर्डिनेटर

शारदीय नवरात्रि के पावन पर्व पर जगह-जगह सजे गरबा पांडाल 

शारदीय नवरात्रि के पावन पर्व पर जगह-जगह सजे गरबा पांडाल 

 

राजगढ़ :- शारदीय नवरात्रि के पावन पर्व पर जगह जगह पर माता रानी के दरबार में गरबा पंडाल सजाए गए हैं इसी बीच राजगढ़ जिले के जीरापुर क्षेत्र पिपलिया कुलमी मैं भी बहुत ही आकर्षक माता रानी की झांकी सजाई गई माता रानी को मनाने के लिए छोटे छोटे नन्हे मुन्ने बालक बालिकाओं द्वारा बहुत ही धार्मिक गीतों की प्रस्तुति पर बहुत ही मनमोहक गरबा नृत्य कर माता रानी को मनाया जा रहा है यहां माता रानी का दरबार विगत वर्षों से सजाया जा रहा है यहां रोजाना कई लोग गरबा उत्सव देखने आते है एवम गरबा का समापन माता रानी की आरती कर प्रसाद वितरण कर किया जाता है ।।

मध्यप्रदेश राजगढ़ जिले से पहुँचे श्री राधेश्याम दाँगी,मुकेश दाँगी एवं दीपक दाँगी का भव्य आतिथ्य सत्कार

विश्व प्रसिद्ध ज्ञान व मोक्ष की धरती गया पितृपक्ष मेला के शुभ अवसर पर पिण्डदान करने झीलों की नगरी मध्यप्रदेश राजगढ़ जिले से पहुँचे श्री राधेश्याम दाँगी,मुकेश दाँगी एवं दीपक दाँगी का भव्य आतिथ्य सत्कार डंडिबाग स्थित भूतपूर्व सैनिक शिवशंकर जी के आवास पर दाँगी वर्ल्ड ऑर्गेनाइजेशन द्वारा किया गया । इस बीच दीपक कुमार दांगी ने बताया कि गया और बोधगया की धरती वाकई देखने योग्य, हमें यह जानकर आश्चर्य हुआ कि यहां लाखों की संख्या में दांगी निवास करते हैं । #दाँगी_वर्ल्ड_ऑर्गेनाइजेशन के पदाधिकारियों द्वारा किया गया सम्मान हमें हमेशा याद दिलाएगा.

 इस मौके पर दाँगी वर्ल्ड ऑर्गेनाइजेशन के जिला अध्यक्ष मणिभूषण दाँगी जी राजनीतिक विंग के प्रदेश सचिव दाँगी अजीत कुमार लोहिया जी दाँगी यूथ ब्रिगेड के प्रदेश अध्यक्ष रजनीश सिंह दाँगी जी जयशंकर दाँगी जी भूतपूर्व सैनिक शिवशंकर दाँगी जी उपस्थित थे ।

ABDKS के राष्ट्रीय-अध्यक्ष वरदीचंद दाँगी, राष्ट्रीय महासचिव वीरेंद्र दाँगी एवं राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष बने मुकेश दाँगी

 अखिल भारतीय दांगी क्षत्रिय संघ के राष्ट्रीय चुनाव 2021के राष्ट्रीय-अध्यक्ष वरदीचंद दाँगी,राष्ट्रीय महासचिव वीरेंद्र दाँगी एवं राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष मुकेश दाँगी ने शानदार जीत हासिल की. 

कानपुर मे गांधी जयंती के मौके पर दाँगी मित्र मंडल के बैनर तले पिकनिक का किया गयाआयोजन

कानपुर: 2 अक्टूबर गांधी जयंती को दाँगी मित्र मंडल के बैनर तले पिकनिक का आयोजन किया गया।

शिक्षा, स्वास्थ्य और तकनीक के क्षेत्र में करें प्रगति: तोरण सिंह दांगी

शिक्षा, स्वास्थ्य और तकनीक के क्षेत्र में करें प्रगति: तोरण सिंह दांग
गंज बासौदा।
रविवार को स्थानीय संस्कार मैरिज गार्डन में दांगी समाज द्वारा एक सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। जिसमें दांगी समाज के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष व जिला पंचायत अध्यक्ष तोरण सिंह दांगी का सम्मान समारोह सहित प्रदेश और राष्ट्रीय कार्यकारिणी के पदाधिकारियों का सम्मान किया गया। इस अवसर पर समाज जनों को संबोधित करते हुए दांगी समाज के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष और जिला पंचायत अध्यक्ष तोरण सिंह दांगी ने कहा कि समाज के लोगों को एकजुट होने की आवश्यकता है। इसके साथ साथ सभी समाज जन उत्कृष्ट शिक्षा, स्वास्थ्य, तकनीक और आधुनिक कृषि कर स्वयं को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर भी बनाएं। जब वह आत्मनिर्भर बनेंगे तो समाज और राष्ट्र के लिए काम कर सकेंगे। जिससे व्यक्ति देश में अपना और अपने परिवार व समाज का नाम रोशन करेंगे। दांगी ने कहा कि वह सभी लोगों की अच्छे कार्यों में मदद करने के लिए सदैव तत्पर रहेंगे। जब भी उनकी आवश्यकता जिस किसी भी व्यक्ति को लगे वह उनसे मिलकर अपनी बात रख सकता है। उन्होंने समाज की एकजुटता पर भी बल दिया। इस अवसर पर पूर्व कैबिनेट मंत्री दर्जा प्राप्त माधव सिंह दांगी ने कहा कि समाज जनों को हमेशा एकजुट करने का प्रयास करें । जहां जिसको जरूरत लगे हैं उनको मार्गदर्शन और सहयोग करने के लिए तैयार हैं। समाज के लोग शिक्षा, स्वास्थ्य, राष्ट्रभक्ति जैसे महत्वपूर्ण कार्य में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाए। इस अवसर पर राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष शिरोमणि सिंह दांगी ने भी समाज की एकजुटता पर जोर दिया। इसके साथ ही जसवंत सिंह दांगी जिला अध्यक्ष सहित कई पदाधिकारियों ने भी अपनी बात रखी। कार्यक्रम का संचालन सुरेंद्र सिंह दांगी, दशरथ सिंह दांगी नेताजी, ब्लॉक अध्यक्ष बलवीर सिंह दांगी, मनमोहन ठाकुर, मनोज ठाकुर, प्रमोद ठाकुर शिशुपाल, अभिषेक कमलेश दांगी सहित आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों से आए ब्लॉक अध्यक्षों ने भी किया। इस अवसर पर दांगी समाज के लोग सैकड़ों की संख्या में मौजूद रहे।

मखदुमपुर प्रखंड के कुर्था डीह ग्राम में भव्य स्मृति द्वार का उद्घाटन

मखदुमपुर प्रखंड के कुर्था डीह ग्राम के निवासी हैं श्री राम लखन प्रसाद सिन्हा । पेशे से शिक्षक हैं ,पूरी उम्र गया में रहे और वहीं उन्होंने शिक्षक की नौकरी की। गया शहर में बस भी गए हैं । परंतु गांव से उनका रिश्ता कभी नहीं टूटा । जब कभी मौका मिला वह दौड़े गांव आए और गांव में रहकर जितना बन सका लोगों और समाज की सेवा की। रिटायरमेंट के बाद ग्रामीणों ने उन्हें हाथों हाथ लिया और मखदुमपुर पंचायत समिति के सदस्य चुने लिए गए ।अब काफी वृद्ध हो गए हैं उम्र के अंतिम पड़ाव पर उन्होंने इच्छा जाहिर की कि उनके स्वर्गीय पिता खूब लाल सिंह दांगी जो भी पेशे से शिक्षक थे, की स्मृति में गांव के समीप भव्य द्वार का निर्माण हो। उनके पुत्र और पुत्रियों ने आज उनकी यह इच्छा पूरी कर दी । श्री सिन्हा कैंसर रोग से पीड़ित हो गए हैं ,और अब बोल भी नहीं पाते हैं ,मुश्किल से चलना फिरना होता है ,परंतु आज उन्होंने अपनी जिद पूरी की और पिता की स्मृति में बना भव्य स्मृति द्वार का उद्घाटन अपनी उपस्थिति में कराया। उद्घाटन के मौके पर बिहार के पूर्व मंत्री कृष्ण नंदन वर्मा पूर्व विधायक सुरेंद्र प्रसाद सिन्हा समेत कई गणमान्य लोग उपस्थित थे। कार्यक्रम में मैं भी था। कार्यक्रम समाप्ति के पश्चात आज देर शाम उनके पुत्र विवेक रंजन मेरे घर पहुंचे उन्होंने अपने पिताजी राम लखन बाबू का संदेश मुझे दिया,इन खबरों को अखबार में प्रकाशित करा दिया जाए। विवेक ने यह भी बताया कि कार्यक्रम के पश्चात पिताजी में नई ऊर्जा का संचार हुआ है और कुछ घंटों में ही वह पहले से अधिक स्वस्थ दिखने लगे हैं मानसिक रूप से भी बेहद मजबूत और स्वस्थ महसूस कर रहे हैं जीवन भर समाज सेवा में रहने वाले राम लखन बाबू ना बोलते हुए भी आज सब लोग से पूर्व की भांति ही बेहद आत्मीयता से मिल रहे थे ।सब पर अपना अधिकार और स्नेह भी जता रहे थे ।राम लखन बाबू जीवन भर शिक्षा का अलख जगाते रहे ,और ब्राह्मणवाद का विरोध करते रहे ।उन्होंने बिना तिलक दहेज और पारंपरिक रीति-रिवाजों से हटकर बिना मंडप और पंडित के सैकड़ों शादियां करवाई। ऐसी कई शादियों में मैं भी उनके साथ शामिल होता रहा हूं ।मगध क्षेत्र के गांव गांव के लोगों से उनके संबंध रहे हैं जीवन भर वह सब के बने रहे और सब उनमें अपनापन महसूस करते रहे। अस्वस्थ चल रहे राम लखन बाबू के ठीक होने की सबने कामना व्यक्त की है।
Nitish kumar sinha के पोस्ट से कॉपी